Child Development and Pedagogy Important Notes in Hindi

Child Development and Pedagogy Important Notes in Hindi

Child Development and Pedagogy Important Notes in Hindi

Hello Friends

In This Post we are sharing you  Child Development and Pedagogy Important Notes in Hindi.for Teacher’s Eligibility Tests ­ CTET, HTET, HP TET, PTET, UP TET, RTET/REET, MP TET, Bihar TET, MAHA TET, APTET or other states’ TETs

 Child Development and Pedagogy Important Notes in Hindi

1. जीवन इतिहास विधि का प्रयोग सर्वप्रथम किसने किया था? – टाइडमैन ने
2. शिक्षा का शाब्दिक अर्थ क्या है? – नेतृत्व देना
3. प्लेटो के अनुसार शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य किस तरह का विकास था? – व्यक्तित्व विकास
4. सतत् श्रेणी में आंकड़ों का व्यवस्थापन करने के लिए कौन-सा वर्गीकरण उपयोग में लाया जाता है? – संख्यात्मक
5. शिक्षण के क्रियात्मक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए पाठ्यक्रम में किस पर जोर दिया जाता है? – क्रिया एवं प्रयोग
6. बालक की कमजोरी के क्षेत्रों का पता लगाने के लिए किसका प्रयोग किया जाता है? – निदानात्मक परीक्षण
7. मनोविज्ञान को आरम्भ में क्या कहा जाता था? – आत्मा का विज्ञान
8. थॉर्नडाइक ने अधिगम के कितने गौण नियम बताए हैं? – 5
9. किस नियम के अनुसार प्रतिभाशाली माता-पिता की सन्तान निम्न कोटि की होती है? – प्रत्यागमन का नियम
10. ‘बालकों के प्रयास की इच्छा जीवित रखिए।’ यह किसका कथन है? – जेम्स का
11. बाल्यावस्था कौनसे वर्ष तक होती है? – 5-12 वर्ष तक
12.  किसको ‘बीसवीं शताब्दी को बालक की शताब्दी कहा जाता है? – एडलर
13. शिक्षा क्या है? – जीवनपर्यन्त चलने वाली एक प्र​क्रिया
14. ‘Statistics’ शब्द की उत्पत्ति किस भाषा से मानी जाती है? – लैटिन, जर्मन और इटैलियन
15. पाठ्यक्रम कैसा होना चाहिए? – शिक्षा-व्यवस्था, परीक्षा-प्रणाली और समाज एवं परिवेश के अनुरूप
16. संक्रिया-उत्पाद, त्रि-आयामी और प्रज्ञा-संरचना इनमें से गिलफार्ड ने कौन-सा बुद्धि सिद्धान्त किया? – उपरोक्त सभी
17. मनोविज्ञान के अन्तर्गत किसका अध्ययन किया जाता है? – अभिवृत्तियों, रुचियों और अभिक्षमताओं का
18. वुडवर्थ के अनुसार स्मृति के कितने अंग होते हैं? – 4
19. बालक के लिए खेल का महत्व क्या है? – शारीरिक, मानसिक और सामाजिक विकास
20. ‘सीखना, विकास की प्रक्रिया है।’ यह किसका कथन है? – वुडवर्थ की
21. किण्डरगार्टन शिक्षण पद्धति का विकास किसने किया? – फ्रोबेल ने
22. ‘शिक्षा’ और ‘मनोविज्ञान’ को जोड़ने वाली कड़ी कौन-सी है? – मानव व्यवहार
23. राष्ट्रीय जीवन में शिक्षा का कार्य क्या है? – राष्ट्रीय एकता का विकास करना
24. ‘शिक्षा को मनुष्य और सम्पूर्ण समाज का निर्माण करना चाहिए।’ यह किसका कथन है? – डॉ. राधाकृष्णन
25. बालकों के स्वभाव को समझने के लिए शिक्षकों को किसका अध्ययन करना चाहिए? – बाल मनोविज्ञान
26. बुद्धि-परीक्षणों का जनक किसको कहा जाता है? – बिने को
27. मनोविश्लेषण सम्प्रदाय की स्थापना करने का श्रेय किसका है? – सिगमण्ड फ्रॉयड
28. चिन्हों द्वारा सीखना सिद्धान्त किसके प्रतिपादक है? – टॉलमैन
29. खेल के पूर्व अभिनय सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया था? – मालब्रेन्स
30. गेस्टाल्टवादियों ने अधिगम का कौन-सा सिद्धान्त दिया? – अन्तर्दृष्टि का सिद्धान्त
31. ‘परिवर्तन की अवस्था’ किसको कहा गया है? – किशोरावस्था को
32. मनोविज्ञान की प्रथम प्रयोगशाला कब स्थापित हुई थी? – 1879-जर्मनी
33. ‘शिक्षा ही राष्ट्रीय एकता का आधार है’ यह कथन किसका है? – जवाहरलाल नेहरू
34. प्रतिभाशाली बालकों में किस अवस्था के लक्षण शीघ्र दृष्टिगोचर होते हैं? – ​किशोरावस्था के
35. बाल मनोविज्ञान में किसका अध्ययन किया जाता है? – बालक के जन्म के पूर्व गर्भावस्था से लेकर किशोरावस्था तक का
36. टर्मन के अनुसार सामान्य बुद्धि कितनी होती है? – 90-110
37. कार्ल सी. गैरीसन ने किस विधि का अध्ययन किया था? – लम्बात्मक विधि
38. ‘प्रेरणा’ शब्द का मनोवैज्ञानिक अर्थ क्या है? – आन्तरिक उत्तेजना
39. ‘खेल-खेल’ में ज्ञान प्रदान करने की पद्धति कौन-सी है? – मॉण्टेसरी
40. ‘सीखने के सफल अनुभव अधिक सीखने की प्रेरणा देते हैं’ किसका कथन है? – फ्रैंडसन
41. जीवन के किस काल को तूफान तथा संघर्ष की अवस्था कहा जाता है? – किशोरावस्था को
42. बुद्धि की अवधारणा को समझाने हेतु गिलफोर्ड ने किस अवधारणा का प्रयोग किया था? – कन्टेन्ट, प्रॉडक्ट और ऑपरेशन
43. राष्ट्रीय एकता का प्रमुख आधार क्या है? – शिक्षा
44. अन्धे बालक किस लिपि के द्वारा पढ़ सकते हैं? – ब्रेल लिपि
45. बालक के सामाजिकता का परीक्षण किस विधि द्वारा किया जाता है? – समाजमिति ​विधि
46. बुद्धि का द्वि-तत्व सिद्धान्त किसने दिया? – स्पीयरमैन
47. शिक्षक की सफलता का रहस्य क्या है? – मनोविज्ञान का ज्ञान
48. ‘बुद्धि, कार्य करने की एक विधि है।’ यह किसका कथन है? – वुडवर्थ
49. ‘खेल प्रणाली’ का जन्मदाता कौन है? – फ्रोबेल
50. ‘करके सीखना’ किस अवस्था के लिए उपयुक्त होता है? – शैशवावस्था, बाल्यावस्था और किशोरावस्था
51. जीवन की किस अवस्था को सुखद वर्षा तथा प्रकाश की अवस्था कहा जाता है? – किशोरावस्था को
52. किस मनोवै​ज्ञानिक के अनुसार सभी बालक जन्म से समान होते हैं? – वाटसन
53. शिक्षा आयोग एवं समितियाँ, विद्यालय और शिक्षक में से पाठ्यक्रम के निर्धारण में किसकी भूमिका होती है? – सभी की
54. प्रतिभाशाली बालक की इन्द्रियाँ किस प्रकार की होती है? – तीव्र
55. बाल-अपराधियों को सुधारने के लिए किसकी सहायता लेनी चाहिए? – मनोचिकित्सक
56. स्टैनफोर्ड-बिने स्केल बुद्धि-परीक्षण कितने वर्ष के बालकों के लिए है? – 2 से 14 वर्ष
57. मनोविज्ञान को ‘चेतना का विज्ञान’ मानने वाले कौन थें? – पोम्पोनाजी
58. प्रतिभावान छात्र की बुद्धि-लब्धि होती है? – 140 से ऊपर
59. ‘खेल’ का सामान्य अर्थ क्या है? – चित्त की उमंग
60. बालकों में किशोरावस्था का आरम्भ किस वर्ष माना जाता है? – 12 वर्ष की आयु में
61. ‘बाल्यावस्था’ को जीवन का ‘अनोखा काल’ किसने बताया है? – कोल व ब्रूस ने
62. ब्लूम के अनुसार शिक्षा के उद्देश्य कितने प्रकार के होते हैं? – तीन
63. प्रतिभाशाली बालकों की पहचान किसके द्वारा की जा सकती है? – बुद्धि, अभिरुचि और उपलब्धि परीक्षण द्वारा
64. ‘बुद्धि के इकाई सिद्धान्त’ किसके प्रतिपादक हैं? – स्टर्न एवं जॉनसन
65. मानसिक स्वास्थ्य विज्ञान को आरम्भ करने का श्रेय किसका है? – सी. डब्ल्यू. बीयर्स
66. वर्तमान में मनोविज्ञान को क्या माना जाता है? – व्यवहार का विज्ञान
67. अपराधी प्रवृत्ति वाले बालक के लिए उपयुक्त वि​धि कौन-सी है? – उपचारात्मक विधि
68. बुद्धि के क्रमिक विकास सिद्धान्त का जनक कौन है? – बर्ट एवं वर्नन
69. किस पद्धति में खेल गीतों द्वारा शिक्षा दी जाती है? – किण्डरगार्टन
70. ‘दोहराने की प्रवृत्ति’ किस अवस्था में होती है? – शैशवावस्था

71. वैयक्तिक भिन्‍नता का प्रमुख आधार है – वंशानुक्रम तथा पर्यावरण
72. निम्‍नलिखित कारण व्‍यक्तिगत भेद के हैं, सिवाय – शिक्षा व्‍यवस्‍था
73. व्‍यक्तिगत भेद के कारण है – वंशानुक्रम और वातावरण
74. वैयक्तिक विभिन्‍नता का कारण है – वंशानुक्रम
75. व्‍यक्तिगत भेद का यह कारण नहीं है – जनसंख्‍या वृद्धि
76.”व्‍यक्तिगत विभिन्‍नता में सम्‍पूर्ण व्‍यक्तित्‍व का कोई भी ऐसा पहलू सम्मिलित हो सकता है,
77. ”अन्‍य बालकों की विभिन्‍नताओं के मुख्‍य कारणों को प्रेरणा, बुद्धि, परपिक्‍वता, पर्यावरण सम्‍बन्‍धी उद्दीपन की विभिन्‍नताओं द्वारा व्‍य‍क्‍त किया जा सकता है।” यह कथन किसका है – गैरिसन व अन्‍य का
78. जिसका माप किया जा सकता है।” यह कथन किसका है? – स्किनर का
79.”विद्यालय का यह कर्तव्‍य है कि वह प्रत्‍येक बालक के लिए उपयुक्‍त शिक्षा की व्‍यवस्‍था करे, भले ही वह अन्‍य सब बालकों से कितना ही भिन्‍न क्‍यों न हो।” किसने लिखा है? – क्रो एवं क्रो ने
80.”भय अनेक बालकों की झूठी बातों का मूल कारण होता है।” यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है – स्‍ट्रैंग का
81. प्रतिभाशाली बालकों की बुद्धिलब्धि होती है – 130 से अधिक
82. असामान्‍य व्‍यक्तित्‍व वाले बालक होते हैं – प्रतिभाशाली
83. पिछड़े बालक वे हैं – जो किसी बात को बार-बार समझाने पर भी नहीं समझते हैं।
84.”शैक्षिक पिछड़ापन अनेक कारणों का परिणाम है। अधिगम में मन्‍दता उत्‍पन्‍न करने के लिए अनेक कारण एक साथ मिल जाते हैं। यह कथन किसने दिया है – कुप्‍पूस्‍वामी ने
85.”कोई भी बालक, जिसका व्‍यवहार सामान्‍य सामाजिक व्‍यवहार से इतना भिन्‍न हो जाए कि उसे समाज विरोधी कहा जा सके, बाल-अपराधी है।” यह कथन किसका है – गुड का
86. प्रतिभाशाली बालक की विशेषता इनमें से कौन-सी है? – साहसी जीवन पसन्‍द करते हैं, खेल में अधिक रुचि लेते है, अमूर्त विषयों में रुचि लेते हैं,

87. बाल-अपराध के प्रमुख कारण है – आनुवंशिक कारण, शारीरिक कारण, मनोवैज्ञानिक कारण
88. समस्‍यात्‍मक बालकोंके प्रमुख प्रकारों में किसको सम्मिलित नहीं करेंगे? – अनुशासन में रहने वाले बालक को
89. मन्‍दबुद्धि बालक की स्किनर के अनुसार कौन-सी विशेषता है? – दूसरों को मित्र बनाने की अधिक इच्‍छा, आत्‍मविश्‍वास का अभाव, संवेगात्‍मक और सामाजिक असमायोजन
90. प्रतिशाली बालकों की समस्‍या है – गिरोहों में शामिल होना, अध्‍यापन विधियां, स्‍कूल विषयों और व्‍यवसायों के चयन की समस्‍या
91. निम्‍नलिखित में समस्‍यात्‍मक बालक कौन है – चोरी करने वाले बालक
92. बालकों के समस्‍यात्‍मक व्‍यवहार का कारण नहीं है – मनोरंजन की सुविधा
93. वंचित वर्ग के बालकों के अन्‍तर्गत बालक आते हैं – अन्‍ध व अपंग बालक, मन्‍द-बुद्धि व हकलाने वाले बालक, पूर्ण बधिर या आंशिक बधिर
94. प्रतिभावान बालकों की पहचान किस प्रकार की जा सकती है – बुद्धि परीक्षा द्वारा, अभिरूचि परीक्षण द्वारा, उपलब्धि परीक्षण द्वारा
95. पिछड़ा बालक वह है जो – ”अपने अध्‍ययन के मध्‍यकाल में अपनी कक्षा कार्य, जो अपनी आयु के अनुसार एक कक्षा नीचे का है, करने में असमर्थ रहता है।” उक्‍त कथन है – बर्ट का
96.”कुशाग्र अथवा प्रतिभावान बालक वे हैं जो लगातार किसी भी कार्य क्षेत्रमें अपनी कार्यकुशलता का परिचय देता है।” उक्‍त कथन है – टरमन का
97. प्रतिभाशाली बालकों की समस्‍या निम्‍न में से नहीं है – समाज में समायोजन
98. प्रतिभाशाली बालक होते हैं – जन्‍मजात
99. विकलांग बालकों के अन्‍तर्गत आते हैं – नेत्रहीन बालक, शारीरिक-विकलांग बालक, गूंगे तथा

100.प्रतिभावान बालकों में किस अवस्‍था के लक्षण शीघ्र दिखाई देते हैं – बाल्‍यावस्‍था के

Designed & Developed by Prabhash Raman